कांग्रेस पार्टी नेताओं पर फर्जी मामले दर्ज होने पर भड़के , – जिला एवं कांग्रेस कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के 30 वीं सहादत दिवस पर प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं और उनकी सकुशल घर वापसी पर कलेक्ट्रेट ज्ञापन देने जा रहे कांग्रेसियों के साथ एडीएम की झड़प हो गई। गुस्साए कांग्रेस कलेक्ट्रेट गेट पर ही बैठ गए। बाद में एसडीएम गुलाब सिंह ने मौके पर आकर ज्ञापन लिया और कांग्रेसियों को शांत कराया।


बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लूजी की तत्काल रिहाई व प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह पर दर्ज फर्जी मुकदमे को वापस लेने की मांग पर ज्ञापन देने के लिए कांग्रेसी जब डीएम कार्यालय जा रहे थे, तभी गेट पर एडीएम आ गए।

उरई: पार्टी नेताओं पर फर्जी मामले दर्ज होने पर भड़के कांग्रेसी, एडीएम से नोकझोंक 1
तस्वीर पर क्लिक करे – आगे पढ़े

कांग्रेसियों का आरोप है कि एडीएम ने अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए गेट से बाहर जाने को कहा। इस पर कांग्रेसी जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा और शहर अध्यक्ष रेहान सिद्दीकी के नेतृत्व में गेट पर ही बैठ गए और  किसानों मजदूरों को न्याय दो मांग करने लगे। बाद में कोतवाल की मौजूदगी में कांग्रेसियों ने एसडीएम गुलाब सिंह को ज्ञापन दिया।

एसडीएम ने कांग्रेसियो को भरोसा दिया कि उनका ज्ञापन शासन को भेज दिया जाएगा। इस दौरान अशोक दुबे, संतोष ठाकुर, केके गहोई, जितेंद्र व्यास, सीताराम, अयूब अंसारी, राजेश मिश्रा, दीपांशु समाधिया, सिद्धार्थ दिवोलिया, अमित पांडेय, शकुंतला पटेल, फैजानुल हक,अखिलेश, देवेंद्र सिंह, रामकुमार गुप्ता, प्रदुम्न सिंह, कमलेश उदैनिया आदि रहे।