नई दिल्ली, 23 जुलाई मुकेश अंबानी की जियो ने जून माह में औसत 4जी अपलोड गति में अन्य कंपनियों को काफी पीछे छोड़ते हुए अपनी बादशाहत को बरकरार रखा।

कोविड-19 की वजह से देश में से दूरसंचार कंपनियों की नेट स्पीड पर भी खासा असर पड़ा था। मार्च और अप्रैल में नेट स्पीड में कमी दर्ज करने के बाद, मई में थोड़ी स्थिरता आई और अब टेलीकॉम कंपनियों की स्पीड फिर बढ़ने लगी है। ीय दूरसंचार नियायक प्राधिकरण (ट्राई) के जून माह के आंकड़ों पर नजर डाले तो रिलायंस जियो एक बार फिर औसत 4जी डाउनलोड स्पीड में अव्वल साबित हुई है। जियो की औसत डाउनलोड स्पीड 16.5 एमबीपीएस मापी गई। जियो की स्पीड लगातार तीसरे महीने बढ़ी है, मई माह में यह 14.1 एमबीपीएस और अप्रैल में 13.3 एमबीपीएस थी। रिलायंस जियो लंबे अर्से से लगातार नंबर 4जी ऑपरेटर बना हुआ है। दूरसंचार क्षेत्र की अन्य कंपनियां जियो से इस मामले में बहुत पीछे हैं।

ट्राई के अनुसार जून में भारती एयरटेल के में मामूली सुधार देखा गया। एयरटेल की औसत 4जी डाउनलोड स्पीड मई के 7.0 एमबीपीएस के मुकाबले जून में 7.2 एमबीपीएस रही हालांकि यह जियो के मुकाबले आधे से भी कम है।

वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर के कारोबार का हालांकि विलय हो चुका है और अब वोडाफोन आइडिया के रूप में काम कर रहे हैं किंतु ट्राई दोनों के आकंड़े अलग अलग दिखाता है।

वोडाफोन और आइडिया नेटवर्क की औसत 4 जी डाउनलोड स्पीड में भी मामूली सुधार दर्ज किया गया। वोडाफोन की स्पीड जून में 7.5 एमबीपीएस और आइडिया की 8 एमबीपीएस रही। वोडाफोन और आइडिया दोनों की स्पीड जून में एयरटेल से कुछ अधिक रही।

जून में 6.2 एमबीपीएस के साथ वोडाफोन और आइडिया, औसत 4 जी अपलोड स्पीड चार्ट में सबसे ऊपर रहे। वहीं रिलायंस जियो और एयरटेल की जून माह में औसत अपलोड स्पीड एक समान 3.4 एमबीपीएस नापी गई।

ट्राई औसत गति की गणना माईस्पीड एप्लिकेशन की सहायता से एकत्र रियल टाइम आंकड़ों के आधार पर करता है।