राजकोट : 16 जून राजकोट पुलिस ने आज नील सिटी के पास आई हुई संजय वाटिका के यश कमल अपार्टमेंट के चौकीदार को बेजुबान जानवर/पशु को बेरहमी से मार मारने के मामले में गिरफ्तार किया है ! राजकोट के इसी इलाके की जिव दया प्रेमी श्री पद्मा जैन ने इस मामले को पुलिस तक पहोंचाया मगर राजकोट पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाय साथ ही उस महिला ने पुलिस स्टेशन के काफी धक्के खाए लेकिन हार ना मान ने वाले जिव दया प्रेमी श्री पद्मा जैन ने आखिरकार मामला दिल्ली श्रीमती मेनका गांधी जी तक पहोंचाया जिसके बाद श्रीमती मेनका गांधी के आदेश पर पुलिस हरकत में आई और मामले को गंभीरता से लिया साथ ही मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया !

आप को यह बतादे की इस पशु को बिना किसी वजह बिल्डिंग के चौकीदार ने बेरहमी से पिटा और उसे बहोत जख्मी घायल अवस्था में मरने को छोड़ दिया उस पशु की एक आँख भी हमेशा के लिए खराब हो गई ! जिसकी जानकारी जिव दया प्रेमी श्री पद्मा जैन को मिली और इस मामले को लेकर पुलिस स्टेशन पहोंचे जिसके बाद पुलिस का गोल मटोल रवैया था !

जिव दया प्रेमी श्री पद्मा जैन, श्री निरंजन भाई आचार्य और श्री यश भाई शाह ने समाज के जागृत नागरिक की जिम्मेदारी निभाई और निभा रहे है जिसके लिए इन सभी जिव दया प्रेमी को FACTbulletin नमन करता है!

राजकोट पुलिस हुई सक्रीय - पशु को बेरहेम तरीके से मारने वाले को किया गिरफ्तार 1

आप सभी को केरल की हथनी का किस्सा याद होगा जिसके फटाको को खा लेने से मृत्यु हुई थी ! उस समय भी श्रीमती मेनका गांधी जी ने हथिनी की मौत को लेकर दुःख व्यक्त किया था साथ ही कड़ी कार्यवही की मांग की थी! आप को बता दे श्रीमती मेनका गांधी जी सांसद के साथ एक जानी-मानी पर्यावरणवादी कार्यकर्ता हैं। भारत में पशु-अधिकारों के प्रश्न को मुख्यधारा में लाने का श्रेय मेनका गांधी को ही जाता है।