नई दिल्ल : ने आज एक बार फिर रेडियो कार्यक्रम ‘’ में देश को संबोधित किया। पीएम ने कहा कि कोरोना के दौरान लोगों का नजरिया बदला है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर हों, सफाईकर्मी हों, अन्य सेवा करने वाले लोग हों-इतना ही नहीं, हमारी पुलिस व्यवस्था को लेकर भी आम लोगों की सोच में काफी बदलाव हुआ है।

पर चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ताली, थाली, दीया, मोमबत्ती, इन सारी चीज़ों ने जिन भावनाओं को जन्म दिया। इस जज्बे से देशवासियों ने कुछ-न-कुछ करने की ठान ली, हर किसी को इन बातों ने प्रेरित किया है।

हमारे किसान भाई-बहन को ही देखिये, वो इस कोरोना महामारी के बीच अपने खेतों में दिन-रात मेहनत कर रहे हैं और इस बात की भी चिंता कर रहे हैं कि देश में कोई भूखा ना सोये।


मन की बात में संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि चाहे करोड़ों लोगों का गैस सब्सिडी छोड़ना हो, लाखों सीनियर सिटिजन का रेलवे सब्सिडी छोड़ना हो, स्वच्छ भारत अभियान का नेतृत्व लेना हो, टॉयलेट बनाने हो, ऐसी अनगिनत बातें है। इन सारी बातों से पता चलता है कि हम सबको, एक मन, एक मजबूत धागे में पिरो दिया है। एक होकर देश के लिए कुछ करने की प्रेरणा दी है।


पीएम ने कहा कि हर मुश्किल हालात, हर लड़ाई, कुछ-न-कुछ सबक देती है, कुछ-न-कुछ सिखा करके जाती है, सीख देती है। सब देशवासियों ने जो संकल्प शक्ति दिखाई है, उससे, भारत में एक नए बदलाव की शुरुआत भी हुई है। हमारे बिजनेस, हमारे दफ्तर, हमारे शिक्षण संस्थान, हमारे मेडिकल सेक्टर, हर कोई, तेजी से नए तकनीकी बदलावों की तरफ बढ़ रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि पूरे देश में गली मोहल्लों में, जगह जगह पर आज लोग एक दूसरे की सहायता के लिए आगे आए हैं। गरीबों के लिए खाने से लेकर राशन की व्यवस्था हो लॉकडाउन का पालन हो, अस्पतालों की व्यवस्था हो, मेडिकल इक्वीपमेंट का देश में निर्माण हो-आज पूरा देश एक लक्ष्य, एक दिशा, साथ साथ चल रहा है।

लड़ाई सही मायने में पीपल ड्रिवन है। भारत में कोरोना के खिलाफ लड़ाई जनता लड़ रही है, आप लड़ रहे हैं, जनता के साथ मिलकर शासन, प्रशासन लड़ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि आज पूरा देश, देश का हर नागरिक, जन-जन इस लड़ाई का सिपाही है और लड़ाई का नेतृत्व कर रहा है। आज पूरा देश, एक लक्ष्य, एक दिशा के साथ आगे बढ़ रहा है।आगे कहा कि जब देश एक टीम बन करके काम करता है, तब क्या कुछ होता है – ये हम अनुभव कर रहे हैं। आज केंद्र सरकार हो, राज्य सरकार हो, इनका हर विभाग और संस्थान राहत के लिए मिल-जुल करके पूरी रफ्तार में काम रहे हैं।

पीएम मोदी ने 24 मार्च को 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी। जिसकी मियाद 14 अप्रैल को पूरी हो रही थी। लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पीएम मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया।

https://twitter.com/narendramodi/status/1254349349120696322?s=20


स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस की वजह से देश में अब तक 26,283 केस सामने आए हैं। शनिवार को रिकॉर्ड 1926 मामले आए। हालांकि राहत की बात है कि कोरोना संक्रमित 5939 लोग ठीक हो चुके हैं, जिन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। वहीं, अब तक 825 लोगों की मौत हो चुकी है।