नईदिल्ली 29 मई जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जैसे ही एक और हमले की साजिश विफल रहने की रिपोर्ट के बीच भारत पर निशाना साधने के लिए की ओर से संयुक्त राष्ट्र में ‘इस्लामोफािबिया’ पर इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) राजनयिकों का अनौपचारिक समूह बनाने की कोशिश संयुक्त अरब अमीरात() और ने विफल कर दी।


पाकिस्तान के समाचारपत्र ‘डाॅन’ की रिपोर्ट के मुताबिक यूएई और मालदीव ने पाकिस्तान के इस कदम का यह कहते हुए समर्थन नहीं किया कि केवल विदेशी मंत्री ही ऐसा समूह बना सकते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों देशों ने पाकिस्तान के इस कदम को दक्षिण एशिया में धार्मिक सद्भाव के लिए हानिकारक बताते हुए भारत के खिलाफ किसी भी कार्रवाई का समर्थन करने से इनकार कर दिया।

, हरकतो से बाज़ नहीं आ रहा पाकिस्तान – यूएई, मालदीव ने मंसूबो पर पानी फेरा


अखबार की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में मालदीव के राजदूत थिल्मिजा हुसैन ने कहा है कि उनका देश इस्लामोफोबिया, ज़ेनोफोबिया अथवा किसी भी प्रकार की हिंसा के खिलाफ है। उन्होंने जाेर दिया कि राजनीतिक या किसी अन्य एजेंडे को बढ़ावा देने के लिए एक देश पर निशाना साधना वास्तविक मुद्दे को किनारे करना है।


गौरतलब है कि दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों ने बुधवार रात एक वाहन से करीब 45 किलोग्राम शक्तिशाली विस्फोटक बरामद कर जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन के सुनियोजित हमले काे विफल कर दिया। पुलिस, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और सेना की सजगता तथा समय पर की गयी कार्रवाई से हमले की योजना विफल हो गयी। आतंकवादी सुरक्षा बलों पर 14 फरवरी 2019 जैसे हमले की योजना बना रहे थे।