, 29 अप्रैल के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने बुधवार को कहा कि वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस को काबू किये जाने के बाद ही अगले वर्ष जुलाई में टोक्यो ओलम्पिक का आयोजन किया जा सकेगा।

टोक्यो के गवर्नर ने जापान में आपात स्थिति को आगे बढ़ाने का आग्रह किया है। अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति और जापान सरकार ने पिछले महीने टोक्यो ओलम्पिक को जुलाई 2021 तक स्थगित कर दिया था। कोविड-19 का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है और इससे विश्वभर में अब तक 2 लाख 16,127 लोगों की मौत हो चुकी है तथा 30 लाख 84,563 लोग संक्रमित हुए हैं।

जापान के प्रधानमंत्री, जापान के प्रधानमंत्री : कोरोना काबू होने पर ही होंगे ओलम्पिक
जापान के प्रधानमंत्री

इस बढ़ती संख्या के कारण अगले साल भी ओलम्पिक के आयोजन पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। आबे ने विपक्षी सांसद के सवाल के जवाब में कहा , “हम यह बात बराबर कह रहे हैं कि ओलम्पिक और पैरालम्पिक खेलों का आयोजन ऐसे माहौल में हो जहां खिलाड़ी, दर्शक और अन्य भागीदार खुद को सुरक्षित महसूस कर सकें। जब तक कोरोना की महामारी को काबू नहीं पाया जाता तब तक ओलम्पिक खेलों का आयोजन नहीं किया जा सकता।”

टोक्यो में बुधवार को कोरोना के 47 नए मामले आये हैं और देश में संक्रमितों की संख्या 13,895 पहुंच चुकी जबकि इससे 413 लोगों की मौत हुई है।

जापान के प्रधानमंत्री, जापान के प्रधानमंत्री : कोरोना काबू होने पर ही होंगे ओलम्पिक

टोक्यो 2020 के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने कल जापान के एक खेल समाचारपत्र को साक्षात्कार में कहा था कि यदि अगले साल ओलम्पिक आयोजित नहीं होते हैं तो इन्हें रद्द कर दिया जाएगा।इन्हें 2022 तक स्थगित नहीं किया जाएगा।

कोरोना का अभी तक कोई टीका नहीं बना है और जापान राष्ट्रीय मेडिकल संघ के प्रमुख योशिताके योकोकुरा ने कहा है कि देश में कोरोना के मामलों में भले ही कमी आ जाए लेकिन कोरोना वैक्सीन के बिना टोक्यो का आयोजन करना मुश्किल होगा।