नयी दिल्ली 03 मई दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा है कि राजधानी में केंद्र सरकार के दिशानिर्देश के अनुसार ही लॉकडाउन में ढील दी जायेगी तथा सोमवार से खुलेंगे।

श्री केजरीवाल ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार से आग्रह किया जायेगा कि राजधानी में जो 97 निषिद्ध क्षेत्र हैं केवल उन्हीं को रेड जोन में रखा जाये और अन्य को खोलने की अनुमति दी जाये। उन्होंने लाकडाउन के दौरान सरकार को कर प्राप्ति में आई बडी गिरावट का जिक्र करते.हुए कहा कि पहले तीन हजार करोड़ माह का राजस्व आता था और यह घटकर मात्र 300 करोड़ रह गया जिससे सरकार के समक्ष जरुरी सेवाओं के लिए भी संसाधन देना मुश्किल होता जा रहा है।

गौरतलब है कि दिल्ली के सभी ग्यारह जिले रेड जोन में हैं।

श्री केजरीवाल ने कहा कि कोरोना संकट खत्म नहीं होने जा रहा है और इसके बीच हमें जीने को तैयार होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य सेवाओं के उचित प्रबंध किये गये हैं। उन्होंने माना की लाॅकडाउन नहीं होता तो भयावह स्थिति होती लेकिन अब इसके साथ जीने का जज्बा लाना होगा।

सरकारी व निजी, नई दिल्ली : सरकारी व निजी कार्यालय सोमवार से खुलेंगे – केजरीवाल
सरकारी व निजी कार्यालय सोमवार से खुलेंगे

सरकार के फैसले के अनुसार सोमवार से आवश्यक सेवाओं वाले सरकारी कार्यालय पूरी तरह खुलेंगे जबकि गैर जरुरी वाले कार्यालयों में उप सचिव स्तर से ऊपर के अधिकारी ही आयेंगे। निजी दफ्तरों में 33 प्रतिशत कर्मचारियों की अनुमति होगी।

दिल्ली में स्पा,सैलून और जिम नहीं खुलेंगे। स्कूल, कालेज और प्रशिक्षण संस्थान भी बंद रहेंगे। शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक घर से निकलने पर रोक रहेगी। सार्वजनिक स्थानों पर थूकना प्रतिबंधित रहेगा। अंतरराज्यीय बस सेवा बंद रहेंगी। बच्चों और गर्भवती महिलाओं के अलावा 65 वर्ष से ऊपर आयु के बुजुर्गों से घर से नहीं निकलने की अपील की गई है।

श्री केजरीवाल ने कहा कि सामाजिक और राजनीतिक कार्यक्रम पूरी तरह बंद रहेंगे। वित्तीय और कृषि क्षेत्र से जुड़ी सभी कंपनियां खुली रहेंगी।