कोरोना वायरस से निपटने के लिए तीन मई तक देश के भीतर तालाबंदी (lockdown) बढ़ा दी गई है । इस दौरान मुंबई (mumbai) के रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ जमा हो गई। ये सभी अपने-2 निवास जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचे। मज्दुरो को उम्मीद थी कि लॉकडाउन खत्म हो जाएगा। साथ ही स्तिथि को काबू में लेने के लिए उन्हें भगाने के लिए किया।

mumbai, MUMBAI : lockdown की धज्जिया उडी – आगे पढ़े

बताया जा रहा है कि की एक्शन में आने के बाद, स्तिथि काबू में आई साथ ही वहा के स्थानीय नेताओं का कहना है सभी प्राकार की सहायता दी जाएगी किसी को गभराने की जरुरत नहीं ! के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने उल्लेख किया कि के अधिकारी उन मजदूरों के भोजन की तैयारी करेंगे। हम सभी को समझा रहे हैं कि वे अपनी परिस्तिथि को सुधारने की कोशीश करेंगे को बढ़ाने की पूरी कोशिश करेंगे।

mumbai, MUMBAI : lockdown की धज्जिया उडी – आगे पढ़े

जब की कोरोना से महाराष्ट्र और मुंबई (mumbai) सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां कोरोना पीड़ितों में थोडा सुधार है। लेकिन राज्य के भीतर पीड़ितों की संख्या 2300 को पार कर गई है। महाराष्ट्र के में सबसे अधिक प्रभावित मुंबई है। यहां की 1700 से अधिक मामले सामने आये हैं।

साथ ही आप को यह भी बता दे की में भी बांद्रा जैसी घटना हुई है और यहां भी मजदूरों की भीड़ जमा हो गई साथ ही उनकी मांग थी कि उन्हें उनके गाँव घर जाने दिया जाए. पुलिस ने उन्हें समझाने की प्रयास किया लेकिन बाद में लाठीचार्ज करना पड़ा. लेकिन वही मजदूरो का कहना है कि अब उनके पास पैसे खत्म हो गए हैं और उनके पास खाने को कुछ नहीं है.