मुंबई : महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि राज्य सरकार ने केंद्र से केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की 20 कंपनियां तैनात करने का आग्रह किया है, ताकि लॉकडाउन के दौरान लगातार ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों को राहत दी जा सके। देशमुख ने कहा कि पुलिसकर्मी राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दिन-रात सेवाएं दे रहे हैं। कई पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

उन्हें ठीक होने के लिए आराम करने की जरूरत है। मंत्री ने ट्विटर पर एक वीडियो संदेश में कहा, ‘हमारी चिंताओं में ईद भी शामिल है, जिस दौरान कानून-व्यवस्था बनाए रखने की जरूरत है। इसलिए, हमने राज्य में सीएपीएफ की 20 कंपनियों को तैनात करने के लिए केंद्र से आग्रह किया है। एक कंपनी में करीब 100 जवान होते हैं।’ सीएपीएफ की 32 कंपनियां राज्य में पहले से ही तैनात हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र सरकार से राज्‍य में सीएपीएफ की तैनाती के लिए किया आग्रह


मुंबई में एक कोरोना संक्रमित सहायक उप-निरीक्षक (एएसआई) की मौत हो गई। ज्ञात हो कि अब तक कोरोना संक्रमण के कारण मुंबई पुलिस के आठ कर्मियों की मौत हो चुकी है। एएसआई सेवरी थाने में तैनात थे और कोरोना टेस्‍ट के बाद उनका इलाज चल रहा था।

इससे पहले मुंबई पुलिस ने रविवार को विनोबा भावे नगर पुलिस स्टेशन से जुड़े सहायक उप-निरीक्षक की मौत ASI सुनील दत्तात्रे कलगुत्कर की भी सूचना दी थी। महाराष्ट्र पुलिस के अनुसार राज्‍य में 786 पुलिसकर्मियों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि की जा चुकी है, जिनमें से 703 सक्रिय है इनका इलाज विभिन्‍न कोविड 19 अस्‍पतालों में फिलहाल चल रहा है। इसके अलावा अब तक 76 मरीज ठीक हो चुके हैं।


महाराष्‍ट्र देश में कोरोना संक्रमण के मामले में पूरे देश में नंबर एक है। राज्य में संक्रमितों की संख्या 25,922 हो गई है। अब तक 975 लोगों की मौत भी हुई है। महाराष्ट्र में एक दिन में रिकॉर्ड 1,495 नए मामले सामने आए हैं। इनमें एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी माने जाने वाली मुंबई की धारावी बस्ती में 66 नए मामले शामिल हैं। धारावी में अब तक एक हजार से ज्यादा संक्रमित पाए गए हैं और 40 लोगों की मौत हुई है।