मुंबई : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन-4 में उद्योगों से आर्थिक गतिविधियां बहाल करने की अपील की और लोगों से आग्रह किया कि वे राज्य को आत्म-निर्भर बनाने की दिशा में जुट जाएं। अपने टेलीविजन संदेश में उद्धव ने कहा कि 50000 औद्योगिक इकाइयों ने राज्य में अपना कामकाज फिर से शुरू कर दिया है। ग्रीन जोन में रहने वाले लोग, विशेषकर युवा आगे आकर तमाम उद्योगों में कामकाज शुरू करें।


उद्धव के मुताबिक हमारी सरकार को 6 महीने हुए हैं। नई सरकार है, नए सपने हैं। हमारी ओर से जिन योजनाओं की घोषणा की गई है, उसे लाया जाएगा, नए उद्योग को भी लाने की कोशिश की जा रही है। ग्रीन जोन में स्थापित उद्योग चरणबद्ध तरीके से अपना कामकाज फिर से शुरू कर रहे हैं। कुल 70000 औद्योगिक इकाइयों को संचालन की इजाजत दी गई है। राज्य में लगभग पांच लाख श्रमिकों ने काम शुरू कर दिया है।

उद्धव ठाकरे ने, उद्धव ठाकरे ने उद्यमियों से कहा- आइए शुरू करें कामकाज, राज्‍य को आत्‍मनिर्भर बनाने में जुटें
तस्वीर पर क्लिक करे – आगे पढ़े


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी मजदूर अपने-अपने राज्यों को लौट गए हैं। ऐसे में स्थानीय लोगों को रोजगार के लिए आगे आना चाहिए। उद्धव ने बताया कि राज्य सरकार ने 40000 एकड़ जमीन नए उद्योगों के लिए रिजर्व कर दी गई है। नए उद्योग जिन्हें शुरू करना है, उन्हें हम बिना किसी अनुमति के उद्योग शुरू करने की इजाजत दे रहे है, बशर्ते वे प्रदूषण ना फैलाएं। अगर उद्योग प्लांट लगाने के लिए जमीन नहीं खरीद सकेंगे तो राज्य सरकार उन्हें लीज पर जमीन देगी। आप आइए। ग्रीन जोन में आप शुरू कर सकते हैं, जल्द ही रेड जोन को भी ग्रीन जोन किया जाएगा।


उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमित बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए आप सब सोचते होंगे कि हम आखिर क्या कर रहे हैं। मैं आपसे कह सकता हूँ कि जिस चीज का पालन हमने मार्च महीने से किया है, इसके कारण अब तक हालात काबू में हैं। अब तक हमने कोरोना को हराया नहीं है पर अब हमने कोरोना को बढ़ने से रोका है। रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाया गया है। ग्रीन जोन में धीरे-धीरे और भी रियायत दी जाएंगी, ऑरेंज में भी। रेड जोन में पर रियायत नहीं दी जा सकती है।


काफी उठापटक के बाद विधान परिषद के सदस्य बने उद्धव ठाकरे ने कहा कि आज मैंने विधान परिषद की शपथ ली। मुख्यमंत्री बनकर 6 महीने हो जाएंगे। यह सब आपके आशीर्वाद के कारण हुआ है। इसके लिए सभी पार्टियों के नेताओं का भी आभार। कोरोना के काल में बिना किसी विरोध के जीतने के लिए सभी का धन्यवाद। अब कोरोना पर बात करते हैं।