jammu kashmir news: श्रीनगर 21 जून (वार्ता) जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में रविवार को घेराबंदी और तलाश अभियान के दौरान सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये।

पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर रेंज) विजय कुमार ने यूनीवार्ता को बताया कि इनमें से एक आतंकवादी इसी महीने कश्मीर घाटी में सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) के जवानों पर हमले की घटना में संलिप्त था।

आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर राष्ट्रीय राइफल्स, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह ने श्रीनगर के निचले इलाके जूनिमार और जदिबल समेत कई जगहों पर घेराबंदी की तथा वहां से बाहर निकलने के सभी रास्ते बंद कर दिये।

श्री कुमार ने कहा, “ एक मकान में तीन आतंकवादी छुपे थे। हमें अपने सूत्रों से उनकी पहचान के बारे में पता चला और उनके परिजनों को बुलाया गया , जिन्होंने आतंकवादियों से समर्पण के लिए कहा। हमने उनको समर्पण के लिए ढाई घंटे का समय दिया , लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।”

सुरक्षा बल के जवान उन मकानों की ओर बढ़े , तभी वहां छुपे आतंकवादियों ने स्वाचालित हथियारों से गोलीबारी की। सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलियां चलाई। दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी में तीन आतंकवादी मारे गये। इनमें दो आतंकवादी स्थानीय निवासी थे।

jammu kashmir news : श्रीनगर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़, तीन आतंकवादी ढेर 1

खुफिया रिपोर्टों के मुताबिक मुठभेड़ स्थल पर एक शीर्ष कमांडर समेत दो या तीन आतंकवादी छुपे हुए हैं। श्रीनगर के इलाकों में कई सालों बाद यह पहला घेराबंदी और तलाश अभियान है।

इस बीच कानून एवं व्यवस्था के मद्देनजर काफी संख्या में सुरक्षा बलों को श्रीनगर के सिविल लाइंस समेत निचले और ऊपरी इलाकों में तैनात किया गया है। सुरक्षा बलों ने कई रास्तों को बंद कर दिया है।

स्थानीय प्रशासन ने किसी प्रकार की अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए श्रीनगर और पुलवामा जिले के कुछ हिस्सों में भारत संचार निगम लिमिटेड समेत सभी सेल्युलर कंपनियों की मोबाइल इंटरनेट सेवाएं आज सुबह से निलंबित कर दी। इंटरनेट सेवाओं की अनुपलब्धता के कारण स्कूलों की ऑनलाइन परीक्षाएं और कक्षाएं भी स्थगित कर दी गयी है।

दूसरी तरफ उत्तरी कश्मीर के सोपोर जिले में घेराबंदी और तलाश अभियान सुरक्षा बलों ने आंतकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) से जुड़े तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक पिस्तौल और अन्य हथियार बरामद किया है। आरोपियों की पहचान सोपोर निवासी शबीर अहमद मीर उर्फ मौलवी, मोहम्मद अब्बास मीर और फातिम नबी भट उर्फ डॉक्टर के रूप में की गयी है।