नई दिल्ली 07 मई राष्ट्रीय मानवाधिकार () आयोग ने के विशाखापतनम में गैस रिसाव में लोगों की मौत से संबंधित मीडिया रिपोर्ट का स्वत: संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर विस्तार से रिपोर्ट देने को कहा है।

मानवाधिकार (human rights) आयोग ने कहा है कि मीडिया रिपोर्टों के अनुसार गैस का प्रभाव तीन किलोमीटर के क्षेत्र में रहा जिससे 8 लोगों की मौत हुई और हजारों को बीमार होने पर अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

मानवाधिकार (human rights) आयोग ने कहा है कि अभी इस मामले में मानवीय भूल या लापरवाही की रिपोर्ट नहीं आयी है लेकिन 8 लोगों की मौत और हजारों के बीमार होने से यह मानवाधिकारों के उल्लंघन का गंभीर मामला है। आयोग ने कहा है कि देश पहले ही कोरोना महामारी से जूझ रहा है जिसके कारण बड़ी संख्या में लोग घरों में बंद हैं ऐसे में यह उन लोगों के लिए बड़ा झटका है।

इसे देखते हुए आयोग ने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस भेजकर विस्तार से मौजूदा स्थिति की रिपोर्ट देने को कहा है। साथ ही यह भी बताने को कहा गया है कि बीमार लोगों के उपचार और राहत के लिए क्या किया जा रहा है।

राष्ट्रीय मानवाधिकार (human rights) आयोग ने आन्ध्र प्रदेश के विशाखापतनम में गैस रिसाव में लोगों की मौत से संबंधित मीडिया रिपोर्ट का स्वत: संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर विस्तार से रिपोर्ट देने को कहा है।