नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से कोरोना वायरस की गंभीरता को समझने और घरों में रहने की अपील करते हुए मंगलवार को 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की है। प्रधानमंत्री की इस घोषणा पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि देश में 21 दिनों के बंद (लॉकडाउन) के फैसले को देश मानेगा, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताना चाहिए कि उन्होंने कोरोना वायरस की महामारी को रोकने और स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा के लिए क्या किया?

कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ने इस घोषणा की तुलना नोटबंदी से की है। संजय झा ने कहा, ‘यह नोटबंदी पार्ट-2 है। पीएम मोदी को देखकर लग रहा था कि वह नियंत्रण से बाहर हैं। उनकी शारीरिक भाव-भंगिमा बयां कर रही थी कि यह आपदा का वक्त है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘आदरणीय मोदी जी,देश तो लॉकडाउन का हर आग्रह मानेगा। पर आपने करोना की महामारी को रोकने के लिए क्या किया?

कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘कोरोना वायरस के आने की संभावना था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से काफी उम्मीदें थीं। सरकार की तैयारियों का स्तर क्या है? आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज क्या है? भीखारियों और गरीबों को जिंदा रखने के लिएि क्या उपाय हैं? इन सवालों का जवाब देने के बजाय लोगों को भयभीत और असहाय छोड़ दिया है।’

उन्होंने यह सवाल भी किया, ‘स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा कैसे होगी? करोना से पैदा हुए रोज़ी-रोटी के महासंकट का क्या हल किया? ग़रीब, मज़दूर, किसान, दुकानदार, दिहाड़ीदार के 21 दिन कैसे कटेंगे? प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लोगों से कोरोना वायरस की गंभीरता को समझने और घरों में रहने की अपील करते हुए मंगलवार को 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की । कोरोना वायरस के प्रकोप को लेकर राष्ट्र के नाम संदेश में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आज रात 12 बजे से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है।