delhi : नई दिल्ली, 22 जून (वार्ता) दिल्ली में कोरोना वायरस से जंग लड़ने में केंद्र से मिल रहे सहयोग का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने सोमवार को कहा कि अब घर पर संक्रमण का उपचार करवा रहे मरीजों को सरकार ऑक्सीजन पल्स मीटर देगी।

श्री केजरीवाल ने आज के जरिये राजधानी में की रोजाना बढ़ रही संख्या के बीच कहा कि दिल्ली में अब गंभीर कोरोना मरीज काफी कम हैं। उन्होंने कहा कि बिना लक्षण वाले मरीज ज्यादा है जो घर पर रहकर ही ठीक हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अब हर मरीज़ को पल्स मीटर देने जा रही है। इससे मरीज खुद अपना ऑक्सीजन स्तर घर पर जाँच सकेंगे। अगर उन्हें लगता है कि उनका ऑक्सीजन लेवल कम हो गया है तो वो तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते है, उनको तुरंत अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।

उन्होंने कहा , “ हमने युद्धस्तर पर कोरोना बेड का इंतज़ाम किया है। दिल्ली में इस समय लगभग 7000 बेड खाली है। लोगों को चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है। सरकार बेड की कमी बिल्कुल नहीं होने देंगी।”

से मदद का जिक्र करते हुए श्री केजरीवाल ने कहा आज दिल्ली में कोरोना के लगभग 25,000 सक्रिय मामले हैं। इसमें से अस्पतालों में 6,000 और होम आइसोलेशन में 12,000 लोग हैं। अच्छी खबर ये है कि एक हफ़्ते में केवल 1,000 सक्रिय मामले बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि पहले दिल्ली में हर रोज 5000 टेस्ट हुआ करते थे और अब 18000 टेस्ट किये जा रहे है।

देश में दिल्ली कोरोना मामल़ों में दूसरे स्थान पर है। यह कुल मामले 59747 हैं जबकि 2176 की हो चुकी है।

मुख्यमंत्री ने कहा पिछले दस दिन में कोरोना के 23 हजार मामले आए हैं। दिल्ली में कोरोना की रैपिड जांच शुरु हो गई है और रोजाना 18 हजार टेस्ट किये जा रहे हैं।