नई दिल्ली। देश भर में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बनाए रखने के लिए, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने आज रीटेल सेक्टर के विभिन्न वर्गों खुदरा व्यापार, ई-कॉमर्स कंपनियों और कॉर्प्रॉट रीटेल विक्रेताओं तथा कन्फ़ेडरेशन ओफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्ज़ ( कैट) के प्रतिनिधियों के साथ एक अत्यंत महत्वपूर्ण बैठक की जिसमें कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल और राष्ट्रीय सचिव सुमित अग्रवाल शामिल हुए। बैठक में गुरु प्रसाद मोहपात्रा, डीपीआईआईटी सचिव, फार्मा सचिव , अनिल अग्रवाल, संयुक्त सचिव, डीपीआईआईटी और गृह, वाणिज्य और फार्मा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में शामिल हुए।
खंडेलवाल ने कहा कि राष्ट्रीय लॉकडाउन के तहत देश भर में आवश्यक वस्तुओं की सुचारू आपूर्ति बहुत ही महत्वपूर्ण मुद्दे हैं और यह संतोष की बात है कि सरकार इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर बेहद गम्भीर है और इस बारे में सम्पूर्ण रीटेल व्यापार की सहायता से इस मामले को सुलझाने के लिए उत्सुक है। खंडेलवाल ने कहा कि हमने कम से कम आवश्यक वस्तुओं की नियमित आवाजाही के संबंध में विभिन्न महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए हैं ताकि नागरिक परेशान न हों। हमने आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन के लिए कच्चे माल की आपूर्ति, निर्माता से थोक व्यापारी और थोक विक्रेताओं से खुदरा विक्रेताओं और खुदरा विक्रेताओं से उपभोक्ताओं को आपूर्ति का मुद्दा भी उठाया है।

हमने आवश्यक वस्तु व्यापारियों की सुरक्षा और किसी भी संभावित उत्पीड़न को रोकने के लिए भी मुद्दा उठाया है। चर्चा के दौरान उभरी कुछ और महत्वपूर्ण वस्तुओं को आवश्यक वस्तुओं की सूची में भी जोड़ा जा सकता है। परिवहन और अन्य रसद मुद्दों की गैर-उपलब्धता को भी उठाया गया है। हमने परिवहन क्षेत्र के लिए भी चर्चाओं में शामिल होने का अनुरोध किया है और पूरे राष्ट्र को रसद समर्थन बनाए रखने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया है। संपूर्ण आपूर्ति श्रृंखला के सुचारू संचालन के संबंध में कई अन्य महत्वपूर्ण मामले और मुद्दे भारत में आवश्यक वस्तुओं की सुचारु उपलब्धता के लिए उठाए गए ।

गृह सचिव अजय भल्ला और सरकार के अन्य अधिकारियों ने बैठक में उठाई गई चिंताओं की सराहना करते हुए कहा कि सरकार आवश्यक वस्तुओं के व्यापारियों और आम लोगों को किसी भी तरह की समस्या नहीं होनी देगी । सरकार के अधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि सभी छोटी-छोटी गड़बड़ियां और लोगों को हो रही समस्याओं का जल्द से जल्द समाधान किया जाएगा।

हालांकि, सरकार के अधिकारियों ने आगाह किया है कि आवश्यक कदम ऐसे तरीके से उठाए जाएंगे, जो देश में घातक कोविद -19 वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा देश भर में लगाए गए लॉकडाउन के प्रभाव को कम नहीं करेंगे, क्योंकि देश एक बेहद गम्भीर चरण से गुज़र रहा है जिसमें सभी का सहयोग आवश्यक है