chin aur nepal के सीमा विवाद: लखनऊ 09 जून बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने chin aur nepal के साथ सीमा विवाद को देश की संप्रभुता के लिये गंभीर खतरा करार देते हुये इस मसले पर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को राजनीति से बाज आने को कहा और केन्द्र सरकार से सभी दलों को विश्वास में लेने की सलाह दी।

सुश्री मायावती ने मंगलवार को ट्वीट किया “ यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि कोरोना महामारी के चलते जब देश की जनता में त्राहि-त्राहि मची हुई है तब भी खासकर बीजेपी और कांग्रेस इसकी आड़ में घिनौनी राजनीति कर रहीं हैं तथा अब chin के साथ सीमा विवाद को लेकर भी इनमें आरोप-प्रत्यारोप जारी है, जो देशहित में उचित नहीं है।”

chin aur nepal के सीमा विवाद: केन्द्र सरकार सभी दलों को विश्वास में - मायावती
chin aur nepal के सीमा विवाद: केन्द्र सरकार सभी दलों को विश्वास में – मायावती

chin aur nepal के सीमा विवाद

उन्होने कहा “ चीन के साथ ही दूसरे पड़ोसी देश नेपाल के साथ भी सीमा विवाद अब काफी गंभीर रूप धारण करता जा रहा है। ऐसे में देश की सभी राजीतिक पार्टियों को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में ही सोचना चाहिए। साथ ही, ऐसे मामलों में यदि केन्द्र सरकार सबको विश्वास में लेकर चले तो यह बेहतर होगा।”

बसपा अध्यक्ष ने उत्तर प्रदेश सरकार पर गरीब,दलित वर्ग की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुये कहा “ देश में कोरोना महामारी के इस अति-संकटकालीन दौर में भी वैसे तो सर्वसमाज के करोड़ों गरीब, श्रमिक वर्ग एवं अन्य मेहनतकश लोग सरकारी अनदेखी व प्रताड़ना आदि झेल रहे हैं, ऐसे समय में भी खासकर यूपी में दलितों की आयेदिन हो रही हत्या व उनका उत्पीड़न अति-दुःखद व अति-गंभीर बात है।”

उन्होने ट्वीट किया “अभी हाल ही में अमरोहा के डोमखेड़ा व अब बिजनोर के लाडनपुर गांव में सामंती तत्वों द्वारा दलित की, की गई हत्या अति-निन्दनीय। यूपी सरकार इन मामलों को अति-गंभीरता से लेकर पीड़ित परिवार की पूरी मदद करे व इनके दोषियों के विरूद्ध सख्त कदम उठाए ताकि ऐसी दर्दनाक घटनायें आगेे ना हों।”