रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सीआरपीसी की धारा 144 की अवधि अगले बढ़ा दी है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने सोमवार को यहां बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए राज्य के कई जिलों में धारा 144 लागू की गई थी। राज्य के सभी जिला कलेक्टरों ने वर्तमान स्थिति में कोरोना वायरस फैलने की आशंका जताई है।


अधिकारियों ने बताया कि राज्य में संक्रमण से बचाव के लिए सभी जिलों में निषेधाज्ञा अवधि (धारा 144) को तीन महीने तक बढ़ाने का फैसला किया गया है। वहीं छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को देखे हुए राज्य के सभी रेस्टोरेंट, होटल और बार को 31 मई तक बंद रखने का फैसला किया है।


छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 25 नए मामले दर्ज किए गए हैं. राज्य में इस वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 92 हो गई है, जिनमें से 59 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है। वहीं 33 मरीजों का इलाज चल रहा है। हाल में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ‘भाषा‘ से बातचीत के दौरान राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई थी।


सिंहदेव ने कहा था कि प्रवासियों की वापसी राज्य सरकार के लिए बड़ी चुनौती है। अन्य राज्यों में गए प्रवासी मजदूरों की बड़ी संख्या में ट्रेन और अन्य वाहनों से यहां वापसी हो रही है। इनमें से कई के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका है।


राज्य सरकार यहां संक्रमण को रोकने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। मंत्री ने बताया था कि राज्य में वापसी के लिए लगभग 1.25 लाख लोगों ने नामांकन कराया है। लेकिन लगभग 3.50 लाख लोगों की वापसी होने की संभावना है।