एक हुआ है कि कोरोना वायरस से की जो संख्या बताई जा है वो दरअसल में सही नहीं है।

BRAZIL सरकार ने जो आंकड़े दिए हैं, वह संभावना है कि कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के मामले उससे 12 गुना तक ज्यादा हो सकते हैं। सोमवार को जारी की गई एक स्टडी के मुताबिक, इन भ्रामक आंकड़ों का कारण कम की जा रही जांच और नतीजे के लिए लंबे समय का इंतजार है। 10 अप्रैल को होने वाली मौतों के अनुपात की जांच ब्राजील के विश्वविद्यालयों और संस्थानों के एक संघ के शोधकर्ताओं ने की थी। तब आंकड़ों की तुलना विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से अपेक्षित मृत्यु दर के आंकड़ों के साथ की गई थी।

BRAZIL वायरस से संक्रमित

ब्राजील में उम्मीद से ज्यादा मृत्यु दर ये बताती है कि वायरस से संक्रमित मामले जितने बताए गए असल में उससे कहीं ज्यादा हैं. स्टडी में कहा गया है कि केवल 8 प्रतिशत मामले ही आधिकारिक तौर पर रिपोर्ट किए जा रहे हैं. सेंटर ऑफ हेल्थ ऑपरेशन्स एंड इंटेलिजेंस का कहना है कि सरकार ने सभी संदिग्ध मामलों के बजाए केवल गंभीर मामलों के परीक्षण पर ही ध्यान केंद्रित किया है।

government job

साथ ही चिकित्साकर्मियों ने भी जांच के नतीजों में देरी होने की शिकायत की है. पेशेवरों ने भी परीक्षण के परिणाम प्राप्त करने के लिए लंबे समय तक प्रतीक्षा करने की शिकायत की है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, सोमवार को ब्राजील में कोरोना वायरस से मौत की संख्या बढ़कर 1,328 हो गई, जबकि पुष्टि किए गए मामलों की संख्या पिछले गुरुवार की तुलना में 23,430 थी। ब्राजील में लगभग 127,000 संदिग्ध मामले थे लेकिन केवल 63,000 की ही जांच की गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, अभी भी 93,000 से ज्यादा जांच की जा रही हैं लेकिन शोधकर्ताओं के अनुमान अब भी गंभीर हैं। उनके अनुसार, 20 अप्रैल तक हालात अच्छे रहे तो मामलों की संख्या बढ़कर 25,164 हो जाएगी और अगर हालात खराब होते हैं तो संख्या 60,413 होगी।