पटना : कोरोना वायरस संक्रमण के दो अन्य मामलों की पुष्टि होने के बाद बिहार में संक्रमित लोगों की संख्या बुधवार को बढ़ कर 23 हो गयी है। राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इन्स्टीट्यूट (आरएमआरआई) के निदेशक डॉ प्रदीप दास ने बुधवार को बताया कि बेगूसराय और नालंदा निवासी दो लोगों के नमूने जांच में कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये हैं। बेगूसराय निवासी दुबई और नालंदा निवासी आबुधाबी से अपने घर लौटा था। बिहार में अब तक 1054 संदिग्ध नमूनों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 1033 नमूनों में संक्रमण नहीं पाया गया और 23 संक्रमित पाये गये हैं।
बिहार: कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ कर 23 हुए, पुलिस और प्रशासन सजग 1
मुंगेर के एक निवासी की कोरोना वायरस संक्रमण से 21 मार्च को पटना एम्स में मौत हो गयी थी। गौरतलब है कि कतर से लौटे मुंगेर निवासी के संपर्क में बीते दिनों में 64 व्यक्ति आये थे, जिनमें से 55 लोगों के सैंपल जांच के लिए आरएमआरआई में भेजे गये थे। इनमें से 11 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये हैं।
राजधानी पटना में विदेश से आये लोगों की सूचना मिलने पर पुलिस और प्रशासन सजग हो गया है। राजधानी पटन के बेली रोड स्थित समनपुरा स्थित राजा बाजार मोहल्ले के फैज अपार्टमेंट में विदेशों से आये हुए तबलीगी जमात और अन्य लोगों की जांच कराने के लिए पुलिस और प्रशासन के साथ-साथ चिकित्सकों की टीम मौके पर पहुंच चुकी है। वहीं, दूसरी ओर कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्थित ईस्ट इंदिरा नगर, रोड नंबर-1 स्थित वीणा गृह के चार लोगों को कोरोना वायरस की जांच कराने के लिए कंकड़बाग थाने की पुलिस और जिला प्रशासन की टीम साथ ले गयी है। चार लोगों में एक महिला भी शामिल है। महिला पीएमसीएच में नर्स का काम करती है। बताया जाता है कि धर्मवीर सिंह आठ दिन पहले मुंबई से आये थे। मुंबई से आने के बाद से ही उनकी तबीयत खराब चल रही थी। वहीं, चारो लोगों को जांच के लिए ले जाने के बाद उनके घर और आसपास के इलाके में छिड़काव किया गया है।
https://factbulletin.com/world-corona/