ने भारत को चेतावनी दी की वो हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर रोक नहीं हटाये और भेजेगा तो इसका जवाब अमेरिका देगा यहाँ देखने जैसी बात यह है की पहेले अमेरिका ने इसके लिए मदद मांगी थी और उसके दुसरे दिन ही दुनिया का शक्तिशाली देश अमेरिका अब भारत को के लिहाज़ से बोल रहा है !

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन, अमेरिका की धमकी – हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन नहीं भेजी तो इसका जवाब देगा
अमेरिका की धमकी

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘अगर यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र ने लिया है तो मुझे हैरानी है…मैंने रविवार की सुबह फोन पर उनसे बात की थी और मैंने कहा कि अगर वे सप्लाई पर लगी रोक हटा दें तो हमारी काफी मदद होगी. अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया तो कोई बात नहीं. लेकिन हां, इसका जवाब दिया जा सकता है.और क्यों नहीं दिया जाएगा!’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मदद मांगी है और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया कराने का अनुरोध किया है। चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस ने usa में सबसे ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में लिया है। अमेरिका में महामारी कोरोना वायरस से तीन लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।

वहीं usa में महामारी कोरोना वायरस के कारण मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से बातचीत की। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया करवाने का अनुरोध किया है। साथ ही पीएम नरेन्द्र मोदी से अमेरिका के हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन ऑर्डर को जल्द रिलीज करने के लिए कहा है।राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘भारत बड़ी मात्रा में इस दवा को बनाता है. भारत की जनसंख्या 1 अरब से ज्यादा है। उन्हें अपने लोगों के लिए भी इसकी जरूरत होगी। मैंने पीएम मोदी से कहा है कि अगर वो हमारे ऑर्डर को भेजते हैं तो मैं आभारी रहूंगा।’ दरअसल, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल मरीजों के इलाज में किया जा रहा है।
कोरोना वायरस महामारी ने दुनिया में कोहराम मचा रखा है। कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले US में सामने आए हैं और अमेरिका में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।

आयुष मंत्रालय के लिए यहाँ क्लिक करे