अहमदाबाद। अक्सर बच्चे जब किसी बात को नहीं मानते हैं तो उन्हें यह कहकर डराया जाता है कि पुलिस आ जाएगी। लेकिन अहमदाबाद में तीन बच्चे अपनी-अपनी गुल्लक लेकर खुद थाने पहुंच गए, वहां थानाधिकारी को कहा अंकल इसे गरीबों में बांट दो। ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है। ये तीनों बच्चे हैं जैद, मोईन और आमेना मेमन।

अहमदाबाद के कागड़ा थाने के एसएचओ प्रतीक गोहिल ने बताया कि रिलीफ सिनेमा, दलालवाड़ा निवासी बच्चों की मां मुस्कान मोईन मेमन का फोन आया था। उन्होंने कहा था कि बच्चे कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर बनाए मेरे वीडियो से काफी प्रभावित हुए हैं और वे जरूरतमंदों में बांटने के लिए अपनी सेविंग मुझे ही देना चाहते हैं। देश जिस आपदा से गुजर रहा है, उसमें जनसहयोग को लेकर बच्चों की यह एक अच्छी पहल लगी।

, अहमदाबाद में तीन बच्चे गुल्लक लेकर थाने पहुंचे : आगे पढ़े

एसएचओ ने बताया कि इस पर हमने लॉक डाउन में बच्चों को थाने पर लाने की व्यवस्था करवायी। बच्चे अपनी-अपनी गुल्लक लेकर आए थे। इन बच्चों से पूछा कि आप ये पैसे क्यों देना चाहते हो, तो बच्चों ने बड़ी मासूमियत से कहा कि इसे आप गरीबों में बांट दो, अभी हमें इसकी जरूरत नहीं है। बच्चों का जवाब सुनकर अच्छा लगा। फिर एक-एक कर बच्चों की गुल्लक को खोलकर उनके सामने पैसे निकाले। यह राशि 5500 रूपए है। पुलिस जनसहयोग से जरूरमंदों में आटा, चावल, दाल के किट वितरित कर रही है। इस राशि से भी जरूरमंदों में किट वितरित की जाएगी।

बच्चों ने सेविंग डोनेट करने की इच्छा जताई तो हमने प्रोत्साहन दिया

मां मुस्कान मोईन मेमन ने बताया कि मोबाइल पर एक थानाधिकारी का वीडियो आया था, जिसमें वे कोरोना के हालातों को लेकर लोगों को जागरूक कर रहे होते हैं और जरूरतमंदों की मदद की अपील भी करते हैं। यह वीडियो देखकर बच्चों ने अपनी-अपनी सेविंग को जरूरमंदों में बांटने की ईच्छा जताई और इन्हीं पुलिस अधिकारी को सेविंग देने को कहा। इस पर थाने का पता लगाया और एसएचओ से संपर्क किया।

, अहमदाबाद में तीन बच्चे गुल्लक लेकर थाने पहुंचे : आगे पढ़े