नई दिल्ली : दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए कमर कस ली है। कोरोना से लड़ने और हराने के लिए ‘फाइव टी योजना’ पर करेंगे काम केजरीवाल और प्रेसवार्ता में बताया कि अगर दिल्ली में 30,000 मरीज होते हैं तो किस तरह से दिल्ली सरकार काम करेगी।

मुख्यमंत्री केजरीवाल, मुख्यमंत्री केजरीवाल : कोरोना के लिए ‘फाइव टी योजना’ पर करेंगे काम

उन्होंने ये भी बताया कि दिल्ली सरकार ‘फाइव टी योजना’ पर काम करेगी। केजरीवाल ने ये कहा कि अगर हम कोरोना से तीन कदम आगे रहेंगे तभी हम इसे हरा सकते हैं। पहला टी- टेस्टिंग- मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि बिना टेस्टिंग कोरोना की रोकथाम संभव नहीं, जिस भी देश ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग की उसने इसे कंट्रोल किया। जैसे साउथ कोरिया ने किया वैसे हम करेंगे। टेस्टिंग किट की समस्या अब थोड़ी सुधरी है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल, मुख्यमंत्री केजरीवाल : कोरोना के लिए ‘फाइव टी योजना’ पर करेंगे काम

एक लाख लोगों के रैपिड टेस्ट के लिए ऑर्डर दिया है। जल्द डिलीवरी चालू हो जाएगी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हम दिल्ली में जो हॉटस्पॉट हैं जैसे- निजामुद्दीन मरकज और दिलशाद गार्डन वहां बड़े पैमाने पर टेस्टिंग कराएंगे। दूसरा टी- ट्रेसिंग- जब हमने पता कर लिया कि कोई पॉजिटिव है तो उससे जुड़े सभी लोगों को ट्रेस कर क्वारंटीन किया जाएगा। यानी लोगों की पहचान करना बहुत जरूरी है कि कोरोना संक्रमित से कौन-कौन मिला उसे क्वारंटीन किया जाए. इसके लिए हमने पुलिस की मदद लेनी शुरू की है। तीसरा टी- ट्रीटमेंट- जो बीमार हो जाए उसका इलाज कराना। हमने 3000 बेड की क्षमता पा ली है। हमने तीन अस्पतालों को कोरोना अस्पताल घोषित कर दिया है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल, मुख्यमंत्री केजरीवाल : कोरोना के लिए ‘फाइव टी योजना’ पर करेंगे काम

केजरीवाल ने ये भी कहा कि दिल्ली सरकार ने 30,000 मरीजों तक को भर्ती करने के लिए योजना तैयार कर ली है। चौथा टी- टीम वर्क- इस बीमारी से अकेले नहीं लड़ा जा सकता, टीम के तौर पर ही कोरोना को जड़ से खत्म किया जा सकता है। देश के सभी राज्य एक साथ काम कर रहे हैं। पांचवां टी- ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग- केजरीवाल ने बताया कि बिना कोरोना की तैयारियों पर नजर रखे और बिना मॉनिटरिंग किए कोरोना से जंग नहीं जीती जा सकती। उन्होंने कहा कि मैं पूरी व्यवस्था पर खुद नजर रखे हुए हूं। हम इसे हरा कर रहेंगे।

आयुष मंत्रालय के लिए क्लीक करे